Research Studies

शोध अध्ययन: 23 | प्रकाशन तिथि: जनवरी 1988

हाल ही के वर्षों में परम्‍परागत आवास की तुलना में वृद्धिशील आवास के संदर्भ में निम्‍न आय वाली शहरी आबादी को सुविधाजनक बनाने के लिए सर्वाधिक व्‍यापक रूप से प्रयोज्‍य साधनों में से एक 'स्‍थल एवं सेवा' (एस/एस) परियोजना रही है। भारत में भी इन परियोजनाओं की सभी प्रकार के शहरों में बड़े पैमाने पर प्रतिकृति की गई है। अतः मौजूदा अध्‍ययन की प्रवृत्ति वित्‍तपोषण, उत्‍पादन, कार्यान्‍वयन तथा अवशोषण प्रक्रियाओं में मुख्‍य गतिरोधों की जांच करना है ताकि यह सुझाव दिया जा सके कि इस एस/एस दृष्टिकोण को आश्रय तथा अवसंरचना एवं शहरी सामुदायिक विकास की सुलभता में उन्‍नयनों के व्‍यापक संदर्भ...

Pages