जयपुर के लिए शहरी गरीबी न्‍यूनीकरण कार्यनीति

Submitted by niuaadmin on 12 जनवरी 2016 - 4:17pm

जयपुर शहर के लिए राष्‍ट्रीय शहरी गरीब कार्यनीति के संबंध में भारत सरकार- यूएनडीपी के अंतर्गत शहरी गरीबी न्‍यूनीकरण कार्यनीति (यूपीआरएस) तैयार की गई है। यूपीआरएस का मुख्‍य फोकस शहरी लोगों के रहन-सहन तथा उनकी जीवन-गुणवत्‍ता में उन्‍नयन करना था। यह ऐसे उप-क्षेत्रीय कार्यनीतियों पर जोर देता है जो शहरी लोगों की आवश्‍यकताओं पर ध्‍यान देने के लिए संसाधनों का लाभ उठाने, यूपीआरएस में शहरी गरीबों की भागीदारी को बढ़ावा देने तथा गरीब-समर्थक संस्‍थागत सुधारों को बढ़ावा देने पर लक्षित है। यह कार्यनीति मूल अवसंरचना की सुलभता के विश्‍लेषण पर आधारित है तथा शहरी गरीबों के जीवन की उन्‍नत आजीविकाओं के प्रभाव तथा महत्‍व पर फोकस बनाए रखने का प्रयास करती है। जयपुर के लिए यूपीआरएस तैयार करने में शहर की गरीब आबादी के रहन-सहन के स्‍तर, उनकी सामाजिक-जातिगत पृष्‍ठभूमि, उनके आर्थिक कार्यकलाप तथा विशिष्‍ट हुनर एवं उनके द्वारा धारित श्रम क्षमताओं के संबंध में शहर की गरीब जनसंख्‍या की रूप-रेखा बनाना शामिल है।

Hindi