मलिन बस्‍ती के उन्‍नयन तथा आर्थिक उत्‍पादकता पर इसके परिणामी प्रभाव की जांच के लिए अनुसंधानात्‍मक अध्‍ययन

Submitted by niuaadmin on 12 जनवरी 2016 - 4:19pm

मलिन बस्‍ती के उन्‍नयन तथा सुधार को शहरी गरीबी उन्‍मूलन की कार्यनीति के रूप में अपनाया जाता है। यह अस्‍पष्‍ट है कि ऐसी कार्यनीति में निवेशों की उत्‍पादकता सफलता क्‍या होनी चाहिए, महत्‍वपूर्ण मामला यह बना हुआ है कि ऐसा निवेश केवल रियायत (सब्सिडी) मात्र था अथवा क्‍या इनसे कोई भौतिक सामाजिक एवम् आर्थिक लाभ मिले। इस संदर्भ में भोपाल शहर की दो मलिन बस्तियों का प्रायोगिक अध्‍ययन किया गया था – एक उन्‍नत एवं अद्यतन मलिन बस्‍ती थी जबकि दूसरी कोई भी उन्‍नयन रहित थी। इन दोनों मलिनबस्तियों में आर्थिक उत्‍पादकता पर प्रभाव डालने वाले इन्‍पुट मुख्‍यतया पानी, स्‍वच्‍छता तथा विद्युत की सुलभता थी। बदलाव के क्षेत्र जनांकीकिय तथा सामाजिक हैसियत, आर्थिक उत्पादकता तथा आय संबंधी हैसियत थी। यह विश्‍लेषण इस धारणा का समर्थन करता है कि मलिन बस्तियों के भौतिक उन्‍नयन के संदर्भ में कार्यकलाप संवर्धित उत्‍पादकता में सहायक है। अतः प्रायोगिक अध्‍ययन के परिणाम उपर्युक्‍त वर्जित विशेषताओं में प्रकृति एवं सीमा दोनों अंतर बताते हैं।

Hindi